Loading...
Hindi

बच्चों का मैदानी खेल खेलना कितना सही है

Please follow and like us:

आधुनिकता के इस युग में बच्चे शारीरिक श्रम वाले खेलों या यूँ कहें की मैदानी खेलो से दूर होते जा रहे है। पुराने समय में बच्चे मोबाइल में नहीं मैदान में खेलना पसंद करते थे ऐसे में वो क्रिकेट से लेकर गुल्ली डंडा तक सब कुछ खेला करते थे। आज भी यद् किया जाए तो हम सबको उन खेलों का महत्व पता है फिर क्या कभी आपने सोचा है की आपके बच्चे उन खेलों से दूर क्योँ है? शायद यही वो कारण है जिकी वजह से आधुनिकता के इस जाल में हम अपने बच्चों के बचपन को भी एक दूसरी तरफ ही धकेल रहे है।

अब सवाल यह उठता है की क्या हमारे बच्चों के लिए मैदानी खेल भी उतने ही जरूरी है जितना की हम सोच रहे है। अगर बात शारीरिक और मानसिक विकास की हो तो आपको बता दें की यह खेल हमारे बच्चों के लिए बेहद जरूरी है। आज के बच्चे मैदानी खेलों से काफी दूर है जो बच्चों के लिए बिलकुल सही नहीं है ऐसा करने से उन्हें छोटी उम्र में ही कई बीमारिया लग रही है।

सामूहिक खेलों में पार्टिसिपेट करने से बच्चा टीम का महत्व भी समझता है जिसकी उसे अपने आने वाले भविष्य में काफी आवश्यकता पड़ती है क्योँकि खेल ही एक ऐसी चीज़ है जो आपके बच्चे को साडी बुराइयों से दूर रखेगा।

आपका बच्चा एक्टिव रहे इस लिए आपको उसे खेल के प्रति प्रोत्साहन देना बहुत जरूरी है। खेलने से बच्चे का बौद्धिक बल भी बढ़ेगा और ऐसा नहीं है की वो खेल की वजह से पढाई में पिछड़ जाएगा अपितु खेलने से उसका कंसंट्रेशन लेवल काफी बढ़ जाएगा।

आप अपने बच्चे को खेलने से ना रोके अपितु उसको प्रोत्साहित करें हम आशा करते है की यह जानकारी आपको ज्ञानवर्धक लगी होगी और आप इसे अपने मित्रों के साथ आवश्य शेयर करेंगे। अगर इस लेख से जुड़ा कोई आपका सुझाव या टिपण्णी हो तो हमारे साथ आवश्य शेयर करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *